Login






Famous Indian Celebrities And Their Postal Stamps | प्रसिद्ध भारतीय हस्तियाँ और उनके डाक टिकट्स
blog

Famous Indian Celebrities And Their Postal Stamps | प्रसिद्ध भारतीय हस्तियाँ और उनके डाक टिकट्स

By on June 15, 2018

Famous Indian Celebrities And Their Postal Stamps | प्रसिद्ध भारतीय हस्तियाँ और उनके डाक टिकट्स

 

दुनिया में कई ऐसे प्रसिद्ध व्यक्ति हुए हैं जिन्होंने अपने जीवनकाल में ही वह प्रतिष्ठा और ख्याति प्राप्त की है,  जो कई व्यक्तियों को मौत के बाद भी नसीब नहीं होती है। भारत में कई ऐसे महान व्यक्तित्व हुए हैं जिनके नाम पर उनके जीवनकाल में ही डाक टिकट जारी किये गए है। इस लेख के माध्यम से आप उन प्रसिद्ध भारतीय हस्तियों के बारे में जानेंगे जिनके नाम पर उनके जीवनकाल में ही डाक टिकट की गयी।

  • सचिन तेंडुलकर डाक टिकट

सचिन तेंदुलकर निसंदेह महानतम बल्लेबाजों में से एक हैं। उन्होंने एकदिवसीय और टेस्ट क्रिकेट दोनों में सबसे अधिक रन बनाए है। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैचों में 100 शतक बनाने वाले एकमात्र खिलाड़ी और एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में दोहरा शतक बनाने वाले वह पहले खिलाड़ी थे। इसके अलावा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 30,000 से अधिक रन बनाने का रिकॉर्ड भी सचिन तेंदुलकर के नाम ही है। उन्हें 1994 में अर्जुन पुरस्कार, 1997 में राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार, 1999 में पद्मश्री, 2008 में पद्म विभूषण पुरस्कार, और 16 नवंबर 2013 को भारत रत्न दिया गया था।

  • मदर टेरेसा डाक टिकट

वह एक रोमन कैथोलिक योगिन (Nun) थी उन्होंने दुनिया भर के गरीब और निराश्रित लोगों की सेवा में अपना जीवन समर्पित कर दिया था। उन्हें 1962 में पद्मश्री और 1980 में भारत रत्न प्रदान किया गया था।  28 अगस्त, 2010 को भारत सरकार ने उनके नाम का  5 रूपए का विशेष सिक्का जारी किया था। वह ऐसी सातवीं भारतीय हैं जिनके जीवनकाल में ही उन पर डाक टिकट जारी किया गया था।

  • राजीव गांधी डाक टिकट

राजीव गांधी  को भारत के सबसे युवा प्रधानमंत्री के रूप में जाना जाता है। भारतीय संचार प्रणाली में उन्होंने क्रांतिकारी परिवर्तन किया था, जिसकी वजह से वर्तमान समय में भारत संचार और सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में अधिक तेजी से आगे बढ़ रहा है। उन्हें 1991 में भारत रत्न से सम्मानित किया गया था और 2009 में आधुनिक भारत के क्रांतिकारी नेता का पुरस्कार दिया गया।

  • वी वी गिरि डाक टिकट

वह भारत के चौथे तथा स्वतंत्र उम्मीदवार के रूप में चुने जाने वाले एकमात्र राष्ट्रपति थे। वह भारत के व्यापार संघ आंदोलन के नेता थे और उनके निस्वार्थ प्रयासों के कारण ही श्रम बल मांग अधिकारों का अधिग्रहण हो सका।  उन्हें 1975 में भारत रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया गया, 1995 में इनके सम्मान में राष्ट्रीय श्रम संस्थान का नाम बदलकर वी वी गिरि राष्ट्रीय श्रम संस्थान कर दिया गया।

  • डॉ. एस. राधाकृष्णन डाक टिकट

भारतीय दार्शनिक, पहले उपराष्ट्रपति और भारत के दूसरे राष्ट्रपति। उन्हें 1932 में नाइटहुड, 1954 में भारत रत्न, और 1963 में ब्रिटिश रॉयल ऑर्डर ऑफ मेरिट की सदस्यता से सम्मानित किया गया था। 

  • डॉ. राजेंद्र प्रसाद डाक टिकट

वह स्वतंत्र भारत के पहले राष्ट्रपति थे और भारतीय गणराज्य को सही आकार देने में उनकी अहम् भूमिका थी। 1962 में उन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया गया था।

  • डॉ. एम. विस्वेसरैया डाक टिकट

वह एक प्रख्यात भारतीय इंजीनियर थे। मंड्या जिले में कृष्णा राज सागर बांध का निर्माण, हैदराबाद शहर के लिए बाढ़ संरक्षण प्रणाली के निर्माण में उनका अहम् योगदान था। 1955 में भारत रत्न तथा 1915 में ब्रिटेन ने नाइटहुड की उपाधि से नवाजा गया था। उनके सम्मान में औद्योगिक और तकनीकी संग्रहालय, बैंगलोर का नाम बदलकर विश्वेश्वराय औद्योगिक और तकनीकी संग्रहालय कर दिया था।

  • डॉ. डी.के कर्वे (महर्षि कर्वे) डाक टिकट

एक समाज सुधारक के रूप में उन्होंने महिलाओं के कल्याण के क्षेत्र में काफी काम किया था। भारत में महात्मा फुले और सावित्रीबाई फुले ने महिला शिक्षा को काफी बढ़ावा दिया और उनके इस प्रयास को महर्षि कर्वे ने आगे बढ़ाया। 1958 में उन्हें भारत रत्न मिला और वह पहले भारतीय हैं जिनके जीवनकाल में ही उनके नाम पर डाक टिकट जारी किया गया था।

 

loading…


TAGS
RELATED POSTS
1 Comment
  1. Reply

    AhmadJuicy

    June 26, 2018

    I often visit your blog and have noticed that you don’t update
    it often. More frequent updates will give your site higher authority & rank in google.
    I know that writing content takes a lot of time, but you can always
    help yourself with miftolo’s tools which will shorten the time of creating
    an article to a few seconds.

LEAVE A COMMENT